Government of India Emblem

कार्यक्रम स्तंभ

डिजिटल इंडिया को कैसे संपादित किया जाएगाः डिजिटल इंडिया के आधार स्तम्भ

डिजिटल इंडिया एक प्रमुख कार्यक्रम है जिसके अन्तर्गत कई सरकारी मंत्रालयों और विभागों को शामिल किया गया है। यह सभी के व्यापक दृष्टिकोण के विचारों और सुझावों को एक साथ जोड़ने का कार्य करता है ताकि उन्हें किसी बड़े लक्ष्य को हासिल करने में लागू किया जा सके। प्रत्येक व्यक्ति अपने दम पर खड़ा है, लेकिन फिर भी वह इस बड़ी तस्वीर का हिस्सा है। डिजिटल इंडिया को सरकार द्वारा इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी विभाग (डीईआईटीवाई) के समग्र समन्वय के साथ कार्यान्वित किया जा रहा है। डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का उद्देश्य विकास के लिए आवश्यक नौ स्तम्भों, अर्थात् ब्रॉडबैंड हाइवे, मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए यूनिवर्सल एक्सेस, सार्वजनिक इंटरनेट एक्सेस कार्यक्रम, ई-शासन: प्रौद्योगिकी के माध्यम से सरकार में सुधार, ई-क्रांति - सेवाओं की इलेक्ट्रॉनिक डिलिवरी, सभी के लिए सूचना, इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण, नौकरियों के लिए आईटी और अर्ली हार्वेस्ट कार्यक्रमों को बल प्रदान करना है। इन क्षेत्रों में से प्रत्येक में और कई मंत्रालयों एंव विभागों में कटौती एक जटिल कार्यक्रम है।

Pillars of Digital IndiaPublic Internet Access Programmee-Governance – Reforming Government through TechnologyUniversal Access to Mobile ConnectivityeKranti - Electronic delivery of servicesInformation for AllElectronics ManufacturingIT for JobsEarly Harvest ProgrammesBroadband Highways

कार्यान्वयन दृष्टिकोण

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत सभी पहलों, कोर आईसीटी बुनियादी सुविधाओं, सेवाओं की डिलीवरी आदि कि स्थापना और समापन के लिए निश्चित समय निर्धारित है। अधिकांश योजनाओं को उनके पहल के अगले तीन साल के भीतर पूर्ण करने के लिए बनाई गयी है। जल्दी पूरा करने के लिए बनाई योजना ("अर्ली हार्वेस्ट कार्यक्रम") और नागरिक संचार पहल ("सभी के लिए सूचना") को पहले ही शुरू और पूरा किया जा रहा है।

डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का उद्देश्य कई मौजूदा योजनाओं को एक साथ लाना है। इन योजनाओं का पुनर्गठन पुर्नोत्थान और फिर से ध्यान केंद्रित किया जाएगा और एक सिंक्रनाइज़ तरीके से लागू किया जाएगा। कई योजनाएं न्यूनतम लागत प्रभाव के साथ सुधार की प्रक्रिया में हैं। डिजिटल इंडिया के रूप में कार्यक्रम के कामन ब्रांडिंग द्वारा परिवर्तनकारी प्रभाव पर प्रकाश डाला गया है। डिजिटल इंडिया के वांछित परिणाम प्राप्त करने और अभिनव समाधान पर पहुंचने के लिए विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सरकार के अलावा व्यापक विमर्श, उद्योग, सिविल समाज और नागरिक के सुझाव आवश्यक है। डीईआईटीवाई ने पहले ही सहयोगी और सहभागी शासन को सुविधाजनक बनाने के लिए "मेरीसरकार" (http://mygov.in/ (लिंक बाहरी है)) के रूप में नामित एक डिजिटल प्लेटफार्म शुरू किया है। इसके अलावा, डिजिटल इंडिया के विजन क्षेत्रों के कार्यान्वयन पर चर्चा के लिए कई परामर्श सभा और कार्यशालाएं आयोजित की गयी है।

Top